देवी का ब्रजिलियन दुल्हा

Untitled-1

भोजपुरी लोकगायकी में अपने अनूठे अंदाज के कारण सशक्त पहचान बनाने वाली छपरा कि लोक गायिका देवी शादी करने जा रही हैं और उनका दूल्हा बनेगा ब्राजील का एक बिजनेस मैन इस बा तका खुलासा खुद देवी ने हीं किया है.बिहार के छपरा जिले कि निवासी भोजपुरी गायिका देवी का दिल ब्राजील के एक लड़के पर आ गयाहै. लड़के का नाम है-फैब्रिसियो. देवी ने बिहारी खबर से कहा है कि अगर सब ठीक रहा तो दोनों शादी भी कर लेंगे. देवी ने यह भी कहा है कि वे साथी में विश्वास करती हैं, शादी में नहीं. देवी को वेस्टर्न कल्चर पसंद है। जहां एक दूसरे को जानने और पसंद करने के बाद लोग वैवाहिक बंधन में बंधते हैं.देवी ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के बेटे तेज प्रताप और ऐश्वर्या की शादी के बाद मचे घमासान का उदाहरण भी दिया. उन्होंने कहा कि अगर तेज प्रताप और ऐश्वर्या एक-दूसरे को पहले से समझ रहे होते तो शायद ऐसे हालात नहीं पैदा होते.बिहार की मशहूर लोक गायिका ने कहा कि शादी के पूर्व एक दूसरे को समझना काफी जरूरी है. देवी ने बताया कि एक साल पहले फैब्रिसियो से उनकी दोस्ती हुई थी. दोनों में नजदीकियां बढ़ चुकी हैं और शादी का निर्णय भी ले चुके हैं. ऋषि केश में देवी म्यूजिक आश्रम भी खुला है जहाँ कत्थक, क्लासिकल गाने, योगा और मेडिटेसन के क्लासेस लगते हैं. संस्था की देख रेख उनकी बहन नीति करती हैं. वहां बहुत ही कम लागत पर ये सब सिखाया जाता है. अपने होने वाले जीवन साथी से देवी पहली बार इसी आश्रम में मिली थी. 2012-13 में देवी ने एक हिंदी मूवी प्रोडूस की ‘जलसा-घर की देवी’ जिसमे मुख्य किरदार भी निभाया था. फिल्म में रविन्द्र जैन जी का संगीत था. भलेही ये मूवीउतनीकमर्शियलीसक्सेसनहींकरपायीलेकिनतारीफें व सराहनाहरतरफसेमिली. एक औरफिल्म ‘गंगाकिनारेप्यारपुकारे’ जिसमेंमेंदेवी ने सेकेण्डलीडरोलनिभाया.देवी की स्कूलकॉलेज की पढ़ाईछपराहोमटाउनमेंहीहुई. सिवान के विद्याभवनमहिलाकॉलेजसेग्रेजुएशनकम्प्लीटकरउन्होंनेदिल्ली के गन्धर्वसंगीतमहाविधालय सेसंगीतकितालिमहासिल की. इसकेबाददेवीनंेश्रीरामकलाकेंद्रसेकत्थक की शिक्षाली. गायनका शौकहोने केवजहसेबहुतछोटीसीउम्रमेंहीगायन शुरू करदियाथा. घरमेंउनकीपरवरिशअच्छेसेहुई, पापासुलझे विचारों के थेलिहाजा, बच्चोंमेंजिसकोजो रूचिथीउसमेंहीउन्होंने बढ़ावादिया. देवीबतातीहैं, ‘मुझे भीपापा ने काफीप्रोत्साहितकिया.स्कूल-कॉलेजस्तरपरजबभीछपरामेंकोईसिंगिंगकम्पटीशनहोतापापामुझे वहांलेजातेऔरमैंवहांउन्हेंअपनेप्रदर्शनसेनाराजभीनहींकरतीथी. फिर पता हीनहींचला धीरे धीरे कब ये शौकजूनूनका रूप लेउनकाकैरियर बन गया. एक दिनअचानकम्यूजिक एल्बमनिकालनेकाआईडियाआया. उसकेलिए देवी ने दिल्लीजाकरकाफीस्ट्रगलकिया. तबटी-सीरीज ने उन्हेंरिजेक्टकरदिया. इसबीच उनके गायालोकगीतोंका एक एल्बम ‘पुरबाबयार’ एक छोटीसीकंपनी द्वारानिकालागया. यह एल्बममॉउथपब्लिसिटीसेचलनिकला. इसकेबादक्याथा. हमदोनों की चलनिकली. म्यूजिककम्पनीभीस्टेब्लिशहोगयी. इसकेबादबहुतजल्दहीटी-सीरीज ने उन्हेंबुला एक एलबमतैयारकरवाया. टी-सीरीजसेउनकापहलासुपरहिट एल्बमआया ‘अईलेमोरेराजा’ ये एल्बमइतनाज्यादाहिटहुआ किटी-सीरीज के अलावाऔरकईकम्पनियों की लाइनलगगयी. उसकेबादउन्हेंस्ट्रगलनहींकरनापड़ा. फिरतो एक के बाद एक एल्बमऔरस्टेज शोमिलनेलगे. राजधानीपकड़ के आजइहो, यारा, बावरिया, शेरावाली, फिरतेरी यादआई, और छठ एवंदुर्गापूजा के ऊपरबहुतसेभक्ति एल्बम खासरहे.

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Don't have account. Register

Lost Password

Register