राजनीति में शुचिता का होना आवश्यकः महाचंद्र प्रसाद सिंह

Untitled-1

बिहार सरकार के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता महाचंद्र प्रसाद सिंह से बिहारी खबर के संपादक अश्विनी कुमार सिंह की खास बातचीत

पूर्व मंत्री बिहार सरकार महाचंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि राजनीति में शुचिता का होना अत्यंत आवश्यक है। विगत 4 दशकों से बिहार की राजनीति में सक्रिय पूर्व विधान पार्षद व पूर्व मंत्री महाचंद्र प्रसाद सिंह इन दिनों भारतीय जनता पार्टी में है.लोकसभा चुनाव के पहले बिहार में भूमिहार मतदाताओं को मनाने की जिम्मेवारी महाचंद्र प्रसाद सिंह को दी गई थी. तीन दशक से ज्यादा कांग्रेस में रहते हुए सारण स्नातक क्षेत्र से अनवरत चुनाव जीतने वाले महाचंद्र सिंह जीतन राम मांझी सरकार में पहली बार मंत्री भी बने, नीतीश कुमार से मांझी के अनबन होने के बाद मंाझी के साथ हम के संस्थापक सदस्य रहे। फिर लोकसभा चुनाव के समय यह महागठबंधन की टिकट पर महाराजगंज लोकसभा चुनाव से लड़ना चाहते थे पर अंतिम समय में इनका टिकट कट गया और यह भाजपा में शामिल हो गए. महा चंद्र बाबू कहते हैं कि भाजपा में हम समर्पित कार्यकर्ता के तौर पर आए और भाजपा ने लोकसभा चुनाव में इन्हें स्टार प्रचारक बनाया। पूरे बिहार में एनडीए गठबंधन के पक्ष में इन्होंने अभियान भी चलाया। हम किसी पद की लालसा में भाजपा में नहीं है. बिहार में भूमिहार पॉलिटिक्स की चर्चा करते हुए महाचंद्र बाबू ने कहा कि श्री बाबू, कैलाशपति मिश्रा जैसे लोगों ने बिहार में भुमिहार समाज की राजनीति को एक नई ऊंचाई दी, वे स्वामी सहजानंद जी के अनन्य भक्त है. सर्वप्रथम उन्होंने ही पटना में स्वामी सहजानंद जी पर बड़े आयोजन की शुरुआत स्वामी जी की जयंती पर किया। इस बार दिल्ली में स्वामी सहजानंद जयंती समारोह ऐतिहासिक रहा. वे कहते हैं कि भाजपा अनुशासित और कार्यकर्ताओं की पार्टी है. भाजपा में शामिल होने से पहले राज्यसभा या राज्यपाल बनाए जाने वाले सवाल पर उन्होंने कहा कि वे किसी पद लालसा की राजनीति नहीं करते खुले दिल इंसान है अगर मंत्री बनना रहता तो अस्सी के दशक में ही बनते पर कभी मंत्री पद की चाहत नहीं रही पहले कांग्रेस के समर्पित कार्यकर्ता रहे राजीव गांधी इंदिरा गांधी के करीबी रहे माझी जी की सरकार में पहली बार मंत्री बने मंत्री बने तो विभाग के द्वारा जो कार्य हुए बिहार के लोग याद रखेंगे. इस वर्ष होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में भूमिहार क्षत्रप के रूप में पार्टी के द्वारा खुद के प्रस्तुतीकरण के सवाल पर महाचंद्र बाबू ने कहा कि यह तो समाज के लोगों का सम्मान है कि पूरे बिहार में जहां जाते हैं उनके ही समाज के लोग नहीं बल्कि सभी स्वर्ण समाज और दलित समाज के लोग भी उनके साथ इकट्ठे हो जाते हैं. बातचीत के क्रम में महाचंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि 1980 1986 1992 में विकट परिस्थितियों में भी सारण स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित हुए 1980 में कांग्रेस के वर्किंग कमेटी के मेंबर भी रहे जब बिहार में राजनीतिक ध्रुवीकरण शुरू हुआ तब भी वे कांग्रेस के साथ खड़े रहे. इस बार लोकसभा चुनाव से पहले 13 अप्रैल 2019 को वे भाजपा में शामिल हुए और 4 दिन बाद ही उन्हें स्टार प्रचारक बना दिया गया उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी देश हित में काम करते हैं नरेंद्र मोदी की परिकल्पना एक मजबूत राष्ट्र की राजनीति में एक लंबा अनुभव रखने वाले श्री सिंह ने कहा इस बार लोकसभा चुनाव के समय भूमिहार समाज की नाराजगी एनडीए गठबंधन से ऐसे में उन्होंने सिवान छपरा महाराजगंज मोतिहारी बेतिया समेत उन इलाकों में भाजपा के लिए काम किया और इसका बेहतर परिणाम भी सामने आया। उन्होंने कहा कि वह राजनीति से प्रेरित होकर और जात पात में पढ़कर लोगों की सेवा नहीं करते फिलहाल वह नमन श्री हैं न विधान परिषद के सदस्य बावजूद इन इसके तीन पिए रखे हुए हैं जो लोग उनसे मिलने आते हैं आम आदमी का काम करते हैं चिट्ठी लिखते हैं फोन करते हैं पदाधिकारियों से आग्रह करते लोगों से मिलना जुलना ही उनके 36 वर्ष के राजनीतिक जीवन का असली उद्देश्य है. बातचीत के क्रम में उन्होंने बताया कि बिहार में जमात की राजनीति समाप्त नहीं हो सकती जो लोग बिहार मे मठाधीश बने हुए हैं असल में वे जातियों के मतों के बल पर ही है। जितेंद्र माली के साथ अपने अनुभव को शेयर करते हुए उन्होंने बताया कि जीतन राम मांझी काफी ईमानदार व्यक्ति हैं लेकिन संगठन चलाने का अनुभव नहीं है। हम पार्टी के गठन में अहम भूमिका निभाने वाले वह नरेंद्र सिंह विपिन पटेल शाहिद अली खान समेत सभी लोग संगठन की कमजोरी के कारण ही अलग हट गए जिस उद्देश्य को लेकर हम का गठन हुआ था वह अपने उद्देश्य से भटक गई. इस बार होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि इस बार हिंदी में गठबंधन पूर्ण बहुमत में आएगी एनडीए गठबंधन ने नीतीश कुमार के नेतृत्व पहले ही घोषित कर रखा है भाजपा संगठन के प्रति और कोशिश करेंगे कि पार्टी के ईमानदार कार्यकर्ताओं को उनका वाजिब हक मिले

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Don't have account. Register

Lost Password

Register